“बैठे हुए युवा खिलाड़ियों को मौका क्यों नहीं देते” – फाइनल मैच के बाद ये क्या बोल गए कप्तान हार्दिक पांड्या

Hardik Pandya
- Advertisement -

भारत और न्यूजीलैंड के बीच तीन मैचों की टी20 सीरीज कल नेपियर में खेले गए तीसरे मैच के साथ समाप्त हो गई। जहां सीरीज का पहला मैच बारिश के कारण रद्द हो गया था, वहीं भारतीय टीम ने दूसरा मैच जीतकर सीरीज में 1-0 (1-0) की बढ़त बना ली थी। इसके बाद इन दोनों टीमों के बीच कल नेपियर में तीसरा क्रिकेट मैच शुरू हुआ था।

न्यूजीलैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया और 19.4 ओवर में 160 रन बनाए। जीत के लिए 161 रन का लक्ष्य लेकर खेलने उतरी भारतीय टीम ने शुरू में लगातार तीन विकेट गंवाये लेकिन कप्तान हार्दिक पंड्या के एक्शन आने के बाद ही बारिश ने मैच में खलल डाल दिया। भारत ने 9 ओवर में 75 रन बनाए। इसके बाद काफी देर तक बारिश होती रही और मैच डग वर्थ लुईस के नाम रहा।

- Advertisement -

इस नियम के अनुसार मैच बराबरी पर छूटा क्योंकि उस समय दोनों टीमों ने सही संख्या में रन बनाए थे। इसके चलते भारतीय टीम ने तीन मैचों की टी20 क्रिकेट सीरीज शून्य से एक (1-0) के स्कोर से जीत ली। तीन मैचों की इस टी20 सीरीज में मौके का इंतजार कर रहे कई खिलाड़ियों को टीम में जगह नहीं मिलने से फैंस में मातम छा गया है। खासकर संजू सैमसन, उमरान मलिक और शुभमन गिल को मौका नहीं दिए जाने से प्रशंसकों के बीच कई तरह के सवाल खड़े हो गए।

ऐसे में फाइनल मैच के बाद इन सभी पर विराम लगाने की बात कहने वाले भारतीय टीम के कप्तान हार्दिक पांड्या ने कहा, “हम भी सोचते हैं कि सभी खिलाड़ियों को मौका दिया जाना चाहिए, लेकिन तीन मैचों की इस टी20 सीरीज का पहला मैच बारिश से प्रभावित रहा। उसके बाद सिर्फ दो मैच थे और हम सभी को मौका नहीं दे सके। इसके अलावा, हमें जमीन की प्रकृति और मौसम की स्थिति पर विचार करने की जरूरत है। ऐसे में दूसरे खिलाड़ियों को मौका नहीं दिया जा सकता था।”

- Advertisement -

हालांकि, अगला टी20 विश्व कप अभी दो साल दूर है, इसलिए उल्लेखनीय है कि भारतीय टीम के कप्तान हार्दिक पांड्या ने कहा है कि आगामी मैचों में टीम में सभी को मौका जरूर मिलेगा।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here