भारतीय गेंदबाजों द्वारा वनडे में टॉप 5 सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी आंकड़े

IND vs ENG
- Advertisement -

जसप्रीत बुमराह ने ओवल में पहले वनडे में इंग्लैंड के खिलाफ शानदार गेंदबाजी करते हुए 6 विकेट लिए। वह पूरी तरह से निर्दयी थे और उन्होंने इंग्लैंड की बल्लेबाजी लाइन-अप के खिलाफ एक मास्टरक्लास का प्रदर्शन किया। एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय (ODI) आमतौर पर गेंदबाजों के लिए एक मुश्किल प्रारूप होता है। एकदिवसीय मैचों में एक समूह में विकेट लेना मुश्किल होता है। एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय में पांच विकेट का हॉल पूरा करना एक दुर्लभ उपलब्धि है।

एकदिवसीय क्रिकेट में भारत के लिए बहुत कम गेंदबाजों ने पांच से अधिक विकेट लिए हैं। वनडे क्रिकेट में ऐसा करना कभी आसान नहीं होता। यहां एकदिवसीय मैचों में भारतीय गेंदबाजों द्वारा शीर्ष 5 सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी के आंकड़े दिए गए हैं:

- Advertisement -

1. स्टुअर्ट बिन्नी (6/4)
भारतीय ऑलराउंडर स्टुअर्ट बिन्नी के नाम एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में किसी भी भारतीय गेंदबाज द्वारा सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी का रिकॉर्ड है। बिन्नी ने 2014 में बांग्लादेश के खिलाफ छह विकेट लिए और सिर्फ 4 रन दिए। भारत ने 105 रनों के छोटे से कुल का सफलतापूर्वक बचाव किया और 47 रनों से मैच जीत लिया।

बहुत से क्रिकेट प्रशंसकों ने नहीं सोचा होगा कि बिन्नी के नाम सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी का रिकॉर्ड होगा। बिन्नी ने मुशफिकुर रहीम, महमूदुल्लाह और नासिर हुसैन के अहम विकेट लिए। स्टुअर्ट बिन्नी ने 4.4 ओवर के अपने स्पेल में दो मेडन ओवर फेंके। हालांकि, बिन्नी अपने करियर में इस तरह के प्रदर्शन को आगे नहीं दोहरा सके।

2. अनिल कुंबले (6/12)
इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर पूर्व भारतीय कप्तान अनिल कुंबले हैं। कुंबले ने 1993 में वेस्टइंडीज के खिलाफ 12 रन देकर छह विकेट के आंकड़े दर्ज किये थे। कोलकाता का ईडन गार्डन स्टेडियम ऐतिहासिक मैदान था जहां कुंबले ने यह अद्भुत स्पेल फेंका था।

- Advertisement -

कुंबले ने 6.1 ओवर के अपने स्पेल में दो मेडन ओवर फेंके। कुंबले के इस शानदार स्पैल की मदद से भारतीय टीम ने 226 रनों के लक्ष्य का बचाव करते हुए 102 रन से मैच जीत लिया। अनिल कुंबले वनडे क्रिकेट के इतिहास में भारतीय टीम के लिए सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज भी हैं।

3. जसप्रीत बुमराह (6/19)
भारतीय सुपरस्टार तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने ओवल में इंग्लैंड के खिलाफ पहले वनडे में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। उन्होंने हरी पिच और बादल छाए रहने का पूरा फायदा उठाया। उन्होंने छह विकेट झटके और 7.2 ओवर में सिर्फ 19 रन दिए। इसने भारतीय टीम को इंग्लैंड को 110 रनों तक सीमित रखने में मदद की।

बुमराह ने जेसन रॉय, जॉनी बेयरस्टो , जो रूट और लियाम लिविंगस्टोन के महत्वपूर्ण विकेट लिए । बुमराह के लिए इंग्लैंड के बल्लेबाज के पास कोई जवाब नहीं था। अंतत: भारतीय टीम ने 10 विकेट से मैच जीत लिया। बुमराह को उनके शानदार गेंदबाजी प्रदर्शन के लिए प्लेयर ऑफ द मैच का पुरस्कार दिया गया।

- Advertisement -

4. आशीष नेहरा (6/23)
विश्व कप 2003 में इंग्लैंड के खिलाफ आशीष नेहरा का प्रदर्शन एकदिवसीय मैचों में किसी भारतीय गेंदबाज द्वारा सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी प्रदर्शनों में से एक है। नेहरा ने इंग्लैंड टीम के छह विकेट झटके और विश्व कप 2003 में इंग्लैंड के खिलाफ सिर्फ 23 रन दिए। इससे भारत को 82 रनों से मैच जीतने में मदद मिली।

पहले नेहरा को चोट के कारण मैच नहीं खेलना था, लेकिन बाएं हाथ के इस तेज गेंदबाज ने भारतीय टीम के लिए अपना सब कुछ देने का फैसला किया। पूर्व क्रिकेटर ने माइकल वॉन , नसीर हुसैन, एलेक्स स्टीवर्ट और पॉल कॉलिंगवुड के महत्वपूर्ण विकेट लिए। नेहरा ने भारत को 251 रनों के लक्ष्य का बचाव करने और ODI WC 2003 में दो महत्वपूर्ण अंक हासिल करने में मदद की।

5. कुलदीप यादव (6/25)
कुलदीप यादव ने 2018 में अपने इंग्लैंड दौरे के पहले एकदिवसीय मैच में इंग्लैंड की बल्लेबाजी क्रम को धरासायी कर दिया। कुलदीप ने इंग्लैंड के खिलाफ अपने 10 ओवर के स्पैल में छह विकेट लिए और सिर्फ 25 रन दिए। कुलदीप एक चाइनामैन गेंदबाज हैं, जो अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में एक दुर्लभ नस्ल है और इंग्लैंड के बल्लेबाजों को कुलदीप यादव का कोई सुराग नहीं था।

जब कुलदीप गेंदबाजी करने आए तो पावरप्ले में बिना कोई विकेट खोए 70 रन बनाकर इंग्लैंड दबदबे की स्थिति में था। लेकिन कुलदीप यादव ने इंग्लैंड के शीर्ष क्रम को पूरी तरह से क्षतिग्रस्त कर दिया। इसने भारतीय टीम को इंग्लैंड को 268 रनों पर सीमित करने में मदद की। मेन इन ब्लू ने आराम से आठ विकेट से मैच जीत लिया।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here