40 से ज्यादा टेस्ट मैच खेलने का क्या मतलब रह गया – दिनेश कार्तिक ने केएल राहुल की गलती बताई

Dinesh Karthik Kl Rahul
- Advertisement -

भारत और बांग्लादेश के बीच दो मैचों की टेस्ट सीरीज कल खत्म हो गई। इस हिसाब से भारतीय टीम ने (2-0) के स्कोर से टेस्ट सीरीज जीत ली। इस टेस्ट श्रृंखला से पहले एकदिवसीय श्रृंखला के दौरान चोटिल होने के बाद रोहित शर्मा को टेस्ट टीम से बाहर कर दिया गया था और केएल राहुल ने श्रृंखला के लिए कप्तान का पद संभाला था।

राहुल ने इस टेस्ट सीरीज में कप्तान के तौर पर अच्छा प्रदर्शन किया है लेकिन एक बल्लेबाज के तौर पर वह इस सीरीज में चमकने में नाकाम रहे हैं। बांग्लादेश के खिलाफ इस टेस्ट सीरीज में उन्होंने केवल 57 रन बनाए और निराश किया। पहले ही समाप्त हो चुकी टी20 विश्व कप श्रृंखला के बाद से अपनी बल्लेबाजी फॉर्म को गंवाने के बाद, उनके लगातार खराब प्रदर्शन ने उन पर एक बड़ा सवालिया निशान खड़ा कर दिया है।

- Advertisement -

जहां टीम में आए युवा खिलाड़ी अच्छा खेल रहे हैं, वहीं केएल राहुल ने सभी के बीच असंतोष पैदा कर दिया है। ऐसे में केएल राहुल ने बांग्लादेश सीरीज में भी अच्छा प्रदर्शन नहीं दिखाया है। ऐसे में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आगामी सीरीज को उनके लिए अहम सीरीज के तौर पर देखा जा रहा है।

ऐसे में इस ऑस्ट्रेलिया सीरीज से पहले भारतीय टीम के प्रमुख क्रिकेटर दिनेश कार्तिक ने केएल राहुल को चेतावनी देने के लिए कुछ कमेंट्स शेयर किए हैं। इस बारे में उन्होंने कहा, “राहुल फरवरी और मार्च में होने वाली चार मैचों की टेस्ट सीरीज में जरूर नजर आएंगे लेकिन उन्होंने साफ कर दिया है कि अगर सीरीज के पहले दो मैचों में उन्होंने अच्छा प्रदर्शन नहीं किया तो उन्हें टीम से जरूर बाहर कर दिया जाएगा।”

- Advertisement -

दिनेश कार्तिक ने इस बारे में बात करना जारी रखा और कहा, “उन्होंने भारतीय टीम के लिए 40 से अधिक टेस्ट मैच खेले हैं और अपना औसत 30 के भीतर रखा है। 35 से अधिक मैच खेलने वाले स्टार्टर के लिए 30 से नीचे का औसत स्वीकार्य नहीं है। इसलिए उनके लिए ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज में अच्छा प्रदर्शन करना जरूरी है।” गौरतलब है कि दिनेश कार्तिक ने उन्हें चेतावनी दी है कि अगर वह उस सीरीज में विफल रहते हैं तो उनकी जगह छिन सकती है।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here