बर्मिंघम टेस्ट में अपनी शानदार पारी से ऋषभ पंत ने तोड़ा धोनी का यह रिकॉर्ड

MS Dhoni
- Advertisement -

बाएं हाथ के बल्लेबाज ऋषभ पंत ने शुक्रवार, 1 जुलाई को एमएस धोनी के टेस्ट क्रिकेट में किसी भारतीय बल्लेबाज द्वारा सबसे तेज शतक लगाने का रिकॉर्ड तोड़ा। बर्मिंघम के एजबेस्टन में पुनर्निर्धारित पांचवें टेस्ट के पहले दिन बेन स्टोक्स के इंग्लैंड के खिलाफ 89 गेंदों में शतक बनाने के बाद बाएं हाथ के बल्लेबाज ने यह उपलब्धि हासिल की।

भारत के शुभमन गिल, चेतेश्वर पुजारा और विराट कोहली के तीन शुरुआती विकेट जल्दी जल्दी गंवाने के बाद पंत लंच के बाद बल्लेबाजी करने आए। वहां से पंत ने 51 गेंदों में अर्धशतकीय पारी खेली। अपने अर्धशतक तक पहुंचने के बाद, पंत ने अपने रनों की गति को आगे बढ़ाया और अपना शतक दोहरी तेज गति से पूरा किया। अब 40 वर्ष के हो चुके महेंद्र सिंह धोनी ने जनवरी 2006 में पाकिस्तान के खिलाफ फैसलाबाद में 93 गेंदों में शतक बनाया था और उनका यह रिकॉर्ड 16 साल तक कायम रहा।

- Advertisement -

धोनी के इस रिकॉर्ड को तोड़ पंत अब सिर्फ वीरेंदर सहवाग और मोहम्मद अजहरुद्दीन से ही पीछे हैं। पंत के बल्लेबाजी कौशल और अंदाज को देखते हुए यह कहना गलत नहीं होगा की भविष्य में यह रिकॉर्ड भी खतरे में आ सकता है।

एशिया के बाहर भारत के लिए सबसे तेज टेस्ट शतक
78 गेंद वी सहवाग बनाम वेस्टइंडीज, ग्रोस आइलेट, 2006
88 गेंद एम अजहरुद्दीन बनाम इंग्लैंड, लॉर्ड्स, 1990
89 गेंद आर पंत बनाम इंग्लैंड, एजबेस्टन, 2022
93 गेंद महेंद्र सिंह धोनी बनाम पाकिस्तान, फैसलाबाद, 2006

पंत टेस्ट क्रिकेट में किसी भारतीय विकेटकीपर द्वारा धोनी के सर्वाधिक शतकों के रिकॉर्ड से भी एक शतक कम हैं। इसके अलावा, पंत ने भारतीय कीपरों को मिले आठ विदेशी शतकों में से चार बनाए हैं। 24 वर्षीय पंत इंग्लैंड की धरती पर एक से अधिक विदेशी शतक बनाने वाले पहले मेहमान विकेटकीपर भी बने।

भारत के कुछ शुरुआती विकेट गंवाने के बाद, पंत और रवींद्र जडेजा ने मेहमान टीम के लिए शानदार वापसी की। पंत ने बिना किसी रोक-टोक के अपने शॉट खेले, जडेजा ने अपना संयम रखते हुए अपने साथी को आवश्यक समर्थन दिया। पंत ने सितंबर 2018 में लंदन के केनिंगटन ओवल में चौथे टेस्ट के दौरान इंग्लैंड के खिलाफ अपना पहला विदेशी शतक बनाया। यह वही चार मैचों की टेस्ट श्रृंखला थी जहां उत्तराखंड में जन्मे पंत ने खेल के सबसे शुद्ध प्रारूप में पदार्पण किया था।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here