Video: अंपायर से बहस करते दिखे क्रुणाल पंड्या और केएल राहुल, नो-बॉल का था मामला। देखें

Krunal Pandya
- Advertisement -

लखनऊ सुपर जायंट्स (एलएसजी) के कप्तान केएल राहुल और ऑलराउंडर क्रुणाल पांड्या बुधवार को आरसीबी के खिलाफ एलिमिनेटर मैच में मैदानी अंपायरों के साथ नो बॉल के फैसले को लेकर बहस करते दिखाई दिए। घटना बैंगलोर की पारी के 12वें ओवर की पहली गेंद पर हुई।

दुसमंथा चमीरा ने एक फुल-टॉस गेंद फेंकी जिसे रजत पाटीदार ने पॉइंट क्षेत्र की ओर सिंगल लेने के लिए आगे बढ़ कर शॉट खेला। अंपायरों ने तुरंत कमर की ऊंचाई से ऊपर फुल टॉस गेंद होने की वजह से नो बॉल का आह्वान किया। हालांकि, लखनऊ टीम के खिलाड़ी अंपायर के इस फैसले से नाखुश दिखे।

- Advertisement -

यह स्क्वायर-लेग अंपायर माइकल गफ थे जिन्होंने कॉल किया, जैसा कि आमतौर पर होता है, और उनके सहयोगी जे मदनगोपाल ने नॉन-स्ट्राइकर के छोर पर नो-बॉल का संकेत देकर उनका समर्थन किया। ऑलराउंडर क्रुणाल पांड्या को पहले मदनगोपाल के सामने खड़े होकर सिर हिलाते देखा गया जिसके बाद केएल राहुल भी इस बहस में शामिल होने आए।

लखनऊ के क्रिकेटर इस फैसले से नाखुश दिख रहे थे और उन्होंने अंपायर के सामने अपनी असहमति व्यक्त की।

वीडियो यहाँ देखें:

- Advertisement -

मदनगोपाल को यह समझाते हुए देखा गया कि यह नो-बॉल कहलाने के लिए काफी ऊंचा था जिसके बाद गफ ने अपनी स्थिति से संकेत दिया कि यह उनकी कॉल थी। इसके बाद राहुल गॉफ से पूछ रहे थे कि क्या इसे थर्ड अंपायर के पास नहीं भेजा जा सकता। इसके बाद कैमरे एलएसजी डगआउट में गए जहां सहयोगी स्टाफ ने भी अपनी निराशा दिखाई।

इस बीच, आरसीबी ने रजत पाटीदार के नाबाद शतक की मदद से बोर्ड पर 207 रन बनाये। केएल राहुल के कप्तान के रूप में एक अच्छी पारी खेलने के बावजूद सुपर जायंट्स को 193 रनों तक सीमित करने के लिए आरसीबी के गेंदबाजों ने अपनी टीम द्वारा बोर्ड पर लगाए गए स्कोर का अच्छी तरह से बचाव किया।

- Advertisement -

एलिमिनेटर में आरसीबी ने एलएसजी को 14 रनों से हराया

पाटीदार ने नाबाद 112 रनों की शानदार पारी खेलकर आरसीबी को पहली पारी में 207 रनों के विशाल स्कोर पर पहुंचा दिया। पाटीदार ने विकेटकीपर-बल्लेबाज दिनेश कार्तिक के साथ 92 रनों की अटूट साझेदारी की, जिसमें आरसीबी ने अंतिम पांच ओवरों में 84 रन बनाए।

एलएसजी के कप्तान केएल राहुल ने 58 गेंदों में 79 रन की पारी खेली हालाँकि रन रेट का दबाव खेल के अंत में उन पर भारी पड़ा, जिसकी वजह से लखनऊ यह मैच 14 रनों से हार गयी । राहुल ने दीपक हुड्डा के साथ 96 रन की साझेदारी की, जिन्होंने 26 गेंदों में 45 रन बनाए।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here