दीपक चाहर के बदले यही सही रहेंगे। धोनी सब कुछ देख लेंगे । इरफान पठान का आकलन ।

dhoni
- Advertisement -

भारत में आने वाले मार्च महीने के 26 तारीख को शुरू होने वाली आईपीएल श्रृंखला के लिए पूरी तैयारी जोर शोर के साथ हो रही है । वैसे ही वर्तमान चैंपियन चेन्नई सुपर किंग्स टीम भी अन्य टीमों की तुलना में बहुत जल्दी सूरत जाकर वहां वे तीव्र नेट प्रैक्टिस कर रहे हैं । पिछले साल उनके अद्भुत प्रदर्शन के जरिए चैंपियन बनी इस टीम से क्रिकेट प्रशंसकों को बहुत उम्मीदें हैं।

उम्मीद किया जा रहा है की इस बार भी यह टीम आईपीएल श्रृंखला में डोमिनेट करेगी । साथ ही दो हजार अट्ठारह के बाद इस साल ही इस श्रृंखला में खेल रहे सभी टीमों को विघटित करके नई टीमों का निर्माण हुआ है। अतः हर टीम की ताकत और कमजोरी आईपीएल के दौरान ही हमें पता चलेगा।

- Advertisement -

वैसे ही इस बार सीएसके टीम में भी कई नए खिलाड़ियों को चुना गया है जिसके कारण खेल के दौरान ही इस टीम के प्रदर्शन को हम जज कर पाएंगे। ऐसी स्थिति में चेन्नई सुपर किंग टीम के भरोसेमंद स्टार खिलाड़ी दीपक चहर को इस टीम के प्रशासन ने 14 करोड रुपए के लिए नीलामी में चुना है। लेकिन चोट के कारण वे इस श्रृंखला के शुरुआत के पहले कुछ मैच में खेल नहीं पाएंगे ।

अतः अब सीएसके कि प्रशासन जोर शोर से उनके बदले खेलने वाले खिलाड़ी को चुनने में व्यस्त है। खबरों के अनुसार कहा जा रहा है कि उनके बदले शिवम दुबे, हांगरेकर, केएम आसिफ जैसे युवा खिलाड़ियों को उनके बदले खेलने का मौका दिया जाने वाला है । ऐसी स्थिति में भारत के भूतपूर्व खिलाड़ी और सीएसके के भूतपूर्व खिलाड़ी इरफान पठान ने दीपक चाहर के बदले खेलने वाले खिलाड़ी के बारे में अपने मन की बात कही है।

उन्होंने कहा है कि सीएसके टीम में अब शार्दुल ठाकुर भी नहीं है । अतः एक सही खिलाड़ी से ही दीपक चाहर की जगह रिप्लेस होनी चाहिए । अतः मेरी हिसाब से इस जगह के लिए हांग्रेकर बिल्कुल ठीक रहेंगे। वे एक युवा खिलाड़ी हैं और वे बहुत ही प्रतिभाशाली और काबिल खिलाड़ी है। उनकी काबिलियत को हमने अंडर-19 विश्वकप में देखा है।

- Advertisement -

अतः चोट से ठीक होकर दीपक चहर के टीम में वापसी करने तक वे हांगरेकर का इस्तेमाल कर सकते हैं। हमें इस बात की फिक्र बिल्कुल नहीं होनी चाहिए कि वे युवा खिलाड़ी है और अनुभवहीन है। वे धोनी के नेतृत्व में खेलने वाले हैं और धोनी उनका सही तरह से पथ प्रदर्शन करके उन्हें एक अनुभावशाली खिलाड़ी के रूप में बदलने में माहिर हैं।

अतः उन्हें खेलने का मौका देना मेरे हिसाब से सही होगा । इससे टीम को कोई दिक्कत नहीं होगी। कप्तान धोनी के होने की वजह से टीम के प्रशासन को किसी भी बात की चिंता नहीं होनी चाहिए। साथ ही अगर दीपक चाहर के टीम में वापसी करने तक इनको सभी मैचों में मौका दिया जाएगा तो मैं मानता हूं कि वे मैजिक करने की भी क्षमता रखते हैं।

अंडर-19 विश्वकप में इन्होंने धमाकेदार तेज़ गेंदबाज़ी की और ना सिर्फ गेंदबाजी बल्कि सबसे पीछे खेलने आकर बल्लेबाजी में भी इन्होंने अद्भुत प्रदर्शन किया जिसकी वजह से चेन्नई सुपर किंग्स टीम के प्रशासन ने उन्हें नीलामी में डेढ़ करोड़ के लिए समझौता किया है।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here