IND vs NZ: पहले टी20 के लिए कैसा रहेगा वेलिंगटन का मैदान? यहां देखें भारत का प्रदर्शन, आंकड़े-पिच रिपोर्ट

Wellington Stadium
- Advertisement -

हार्दिक पांड्या की अगुआई में एक नए रूप वाली भारतीय टीम 18 नवंबर को वेलिंगटन में तीन टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों की पहली सीरीज में न्यूजीलैंड से भिड़ेगी। उसके लिए हार्दिक पंड्या के नेतृत्व में नेट पर कड़ी ट्रेनिंग में जुटे भारतीय खिलाड़ी पहला मैच जीतने और इस सीरीज में शुरू से ही बढ़त बनाने के लिए जद्दोजहद करने वाले हैं। हालाँकि, न्यूजीलैंड, जो हमेशा घर में एक मजबूत टीम रही है, इस श्रृंखला में रोहित शर्मा और विराट कोहली जैसे प्रमुख खिलाड़ियों के बिना भारत को चुनौती देने और घर में ट्रॉफी जीतने के लिए तैयार है।

प्रशंसकों की उम्मीदें बढ़ाने वाली इस सीरीज का पहला मैच भारतीय समयानुसार दोपहर 12 बजे न्यूजीलैंड के वेलिंगटन के रीजनल स्टेडियम में होगा। इस खूबसूरत स्टेडियम में 2000 से अंतर्राष्ट्रीय मैच और 2006 से टी20 मैच आयोजित किए जा रहे हैं। खासकर इतिहास में यहां हुए 15 मैचों में से 9 में टीमों ने पीछा करते हुए जीत हासिल की है। केवल 6 मैच पहले बल्लेबाजी करने वाली टीमों ने जीते।

- Advertisement -

1. भारत ने इस स्थान पर न्यूजीलैंड के खिलाफ 3 मैचों में 1 जीत और 2 हार दर्ज की है। खासकर, भारत 2009 में 5 विकेट से और 2019 में 80 रन से हार गया था।

2. हालांकि, पिछली बार भारत ने 2020 में न्यूजीलैंड का सामना सुपर ओवर में रोमांचक जीत के साथ किया था। लिहाजा इतिहास में कई चुनौतियां दे चुके इस मैदान पर इस बार भारत को न्यूजीलैंड का सामना संभलकर करना है।

- Advertisement -

3. इस मैदान पर सर्वाधिक रन बनाने वाले शीर्ष 3 भारतीय बल्लेबाजों की सूची:
– एमएस धोनी: 67
– मनीष पांडे: 50
– युवराज सिंह: 50

4. इरफान पठान, हार्दिक पांड्या, शार्दुल ठाकुर और युजवेंद्र चहल इस मैदान पर सबसे ज्यादा विकेट (2-2 विकेट) लेने वाले भारतीय गेंदबाज हैं।

- Advertisement -

पिच रिपोर्ट:
हालाँकि न्यूज़ीलैंड में पिचें आमतौर पर आकार में छोटी होती हैं, यह मैदान अन्य दिनों में रग्बी जैसे अन्य खेलों की मेजबानी भी करता है। इसलिए यह पिच थोड़ी बड़ी है लेकिन इसकी गति और उछाल अच्छी है। इसलिए जिन बल्लेबाजों को इसमें महारत हासिल है, वे शुरुआती चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों से पार पाकर आसानी से बड़े रन बना सकते हैं। साथ ही यहां आउटफील्ड की गति अच्छी होगी और टाइमिंग देने वाले बल्लेबाजों को फायदा होगा।

वहीं, इस मैदान में मिड विकेट बाउंड्री का आकार काफी बड़ा है, इसलिए बीच के ओवरों में कौशल दिखाने वाले स्पिनर इसका इस्तेमाल कर आसानी से विकेट ले सकते हैं। और चूंकि मैच के दिन आसमान में बादल छाए रहेंगे, इसलिए नई गेंद को स्विंग कराने वाले तेज गेंदबाज खतरे का काम कर सकते हैं और विकेट ले सकते हैं।

- Advertisement -

इतिहास में इससे पहले यहां खेले गए 15 टी20 मैचों के आधार पर पहली पारी का औसत स्कोर 162 है। इसलिए, इस मैदान में, जिसकी पिच प्रशंसकों की उम्मीदों पर खरा उतरेगी, इतिहास में सबसे अधिक मैचों में पीछा करने वाली टीमों ने जीत हासिल की है, जो कप्तान टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला करता है, वह सफलता के बीज बो सकता है।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here