अगर मैं इस श्रृंखला में शामिल होता तो जरूर बहुत आसानी से 15 करोड़ के लिए नीलम होता भारत के भूतपूर्व जाम्भवान।

ipl trophy 2022
- Advertisement -

2022 की आईपीएल श्रृंखला पिछले 26 तारीख को मुंबई के वानखेड़े मैदान में पूरे धूमधाम से शुरू हुई। हमेशा की तरह इस साल की श्रृंखला में 8 टीम के बजाय गुजरात और लखनऊ दो नई टीम के जुड़ने के कारण कुल 10 टीम भाग ले रहे हैं और इस साल कुल 74 मैच खेले जाएंगे और यह श्रृंखला पूरे 65 दिन खेली जाएगी।

रविवार को इस श्रृंखला के दो मैच खेले गए थे जिसमें पहले मैच में ऋषभ पंत के नेतृत्व में दिल्ली ने 5 बार कप जीती मुंबई इंडियंस के खिलाफ खेला। इसमें पहले बल्लेबाजी किए मुंबई टीम ने 117 रन बनाए और इस लक्ष्य के साथ दिल्ली टीम ने अपनी चेसिंग शुरू की । खेल के बीच लग रहा था कि यह मैच जरूर मुंबई ही जीतेगी। लेकिन अंत में दिल्ली के खिलाड़ियों के अद्भुत प्रदर्शन की वजह से इस मैच को दिल्ली ने मुंबई से छीन लिया ।

- Advertisement -

दूसरी मैच में पहले बैटिंग किए बंगलुरु ने 206 रन बनाए और इस लक्ष्य के साथ खेलना शुरू किए पंजाब टीम ने श्रेष्ठ प्रदर्शन के जरिए श्रृंखला को जीत के साथ शुरू की है। अतः इस साल आईपीएल श्रृंखला शुरुआत से ही बहुत ही रोमांचक रही है। श्रृंखला में टीम के निर्माण के लिए पिछले महीने आयोजित की गई मेगा नीलामी के जरिए ज्यादा रकम के लिए खरीदे गए खिलाड़ी उनके अद्भुत प्रदर्शन के जरिए अपनी टीम को बढ़िया जीत दिला रहे हैं ।

स्पष्टतः 15.25 करोड़ के लिए मुंबई टीम द्वारा समझौता किए गए युवा खिलाड़ी इशान किशन ने उस टीम के लिए धमाकेदार प्रदर्शन किया । ऐसी स्थिति में भारत के भूतपूर्व जांभवन खिलाड़ी रवि शास्त्री ने कहा कि अगर इस तरह की नीलामी उनके जमाने में होती तो जरूर उन्हें 15 करोड के लिए नीलाम करते और जिस टीम ने उन्हें खरीदा है उस टीम के लिए वे जी जान से संघर्ष करके बहुत बड़ी जीत दिलाते।

बहुत दिनों बाद यह आईपीएल में टीकाकर बनकर आए हैं और जब उनसे इस संबंध में सवाल किया गया था तब उसके जवाब में उन्होंने कहा की मुझे इस बात पर कोई भी संदेह नहीं है। मैं जरूर 15 करोड़ के लिए नीलाम होता। साथ ही मुझे किसी टीम ने कप्तान के रूप में चुना होगा। ना सिर्फ एक खिलाड़ी के रूप में । मैं यह सब बिना सोचे समझे नहीं बोल रहा हूं।

- Advertisement -

जैसे कि उनका कहना है अगर हम सोचेंगे कि क्या रवि शास्त्री 15 करोड़ के लिए नीलाम होंगे तो जरूर हम कह सकते हैं कि वे उसके लायक हैं। क्योंकि 80s के ज़माने में यह भारतीय क्रिकेट के एक प्रमुख खिलाड़ी थे और उन्होंने भारतीय टीम के लिए 80 टेस्ट मैच खेलकर 3830 रन बनाए हैं और 151 विकेट लिए हैं । वैसे ही इन्होंने एकदिवसीय क्रिकेट में भी बढ़िया रिकॉर्ड बनाया है । उस समय वह भारतीय टीम के प्रमुख स्पिन गेंदबाज भी थे जिसके कारण उन्हें उस समय का श्रेष्ठ ऑलराउंडर माना जाता था। स्पष्टतः पिछले 1983 में विश्व कप जीती भारतीय टीम में इनका भी प्रमुख भाग था ।

अगर हम T20 के नजर से देखें तो उसके लिए भी यह बिल्कुल ठीक रहेंगे क्योंकि एक ऑलराउंडर के रूप में वे एक धमाकेदार खिलाड़ी थे। विशेषतः रणजी ट्रॉफी के एक मैच में उन्होंने 6 गेंदों को लगातार छह छक्कों में बदला इसके जरिए उन्होंने ऐसे करते हुए पहले भारतीय खिलाड़ी बन कर रिकॉर्ड बनाया। उनके इस प्रतिभा की वजह से उस जमाने में यह बहुत ही मशहूर खिलाड़ी थे।

ऑल राउंडर बनकर अगर वे इस आईपीएल श्रृंखला में खेलते तो जरूर इनके लिए नीलामी में डिमांड ज्यादा होता । क्रिकेट से रिटायर होने के बाद वे टीका कार बने और इसके जरिए भी उन्होंने करोड़ों का दिल जीता है ।पिछले 2017 से 2021 तक जब विराट कोहली के नेतृत्व में भारतीय टीम खेल रही थी तब ये ही भारतीय टीम के हेड कोच थे। अब इस पद से बाहर आकर वे फिर से टीका कार बन गए हैं।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here