सिर्फ छोटी टीमों के खिलाफ रन मारकर आगे बढ़ रहे राहुल- फैन्स ने उन्हें फौरन हटाने की मांग की, कुछ ऐसे हैं चौंकाने वाले आंकड़े

KL Rahul
- Advertisement -

2007 के बाद दूसरी ट्रॉफी जीतने की महत्वाकांक्षा के साथ ऑस्ट्रेलिया में 2022 ICC T20 विश्व कप में प्रवेश करने वाले रोहित शर्मा के नेतृत्व में भारत ने सुपर 12 राउंड में 5 मैचों में से 4 जीत का स्वाद चखा और सेमीफाइनल राउंड के लिए क्वालीफाई किया। लेकिन 10 नवंबर को मजबूत इंग्लैंड के खिलाफ सेमीफाइनल में 10 विकेट से हार झेलने के बाद विश्व कप से भारत की निराशाजनक हार ने प्रशंसकों को दुखी कर दिया है। मशहूर एडिलेड क्रिकेट ग्राउंड पर हुए मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत को 20 ओवर में 168/8 का स्कोर बनाने के लिए संघर्ष करना पड़ा।

उम्मीद एक बार फिर भारतीय टीम के सितारे विराट कोहली से थी जिन्होंने 50 (40) रन बनाये और आखिरी ओवरों में हार्दिक पांड्या ने 63 (33) रन बनाए। उसके बाद 169 रनों का पीछा कर रही इंग्लैंड ने पहली ही गेंद से भारतीय गेंदबाजों की धज्जियां उड़ा दी और एलेक्स हेल्स-कप्तान जोस बटलर ने 16 ओवर में 170/0 रनों की बड़ी साझेदारी कर उन्हें आसानी से जीत दिला दी। इस तरह इंग्लैंड ने 13 नवंबर को होने वाले ग्रैंड फ़ाइनल में पाकिस्तान का सामना करने के लिए क्वालीफाई किया।

- Advertisement -

राहुल की खराब फॉर्म:
इस हार का एक कारण खराब गेंदबाजी भी रही, लेकिन इसका मुख्य कारण भारत की ओपनिंग जोड़ी का 30 रन भी ना बना पाना था जबकि विपक्षी टीम ने 170 रन की ओपनिंग पार्टनरशिप की। खासकर छोटी टीमों के खिलाफ रन बनाने वाले मशहूर केएल राहुल इस अहम मैच में महज 5 (5) रन पर आउट हो गए और फिर से धोखा दे गए। अपने करियर के शुरुआती दौर में लड़खड़ाने के बाद, उन्हें 2019 विश्व कप में चोटिल शिखर धवन की जगह लेने का मौका मिला और एक स्थायी सलामी बल्लेबाज बनने के लिए उत्कृष्ट प्रदर्शन किया।

उसके बाद उनका आईपीएल बाजार 17 करोड़ के शिखर पर पहुंच गया। इसलिए उन्हें इसे बनाए रखने की एक स्वार्थी खेल खेला है और हाल के दिनों में उन्होंने या तो आउट होने के डर से जल्दी आउट होने की आदत बना ली है, या बड़े रन बनाने के बाद भी हार का इनाम देने के लिए कम स्ट्राइक रेट से खेल रहे हैं। साथ ही 2019 विश्व कप सेमीफाइनल, 2021 टी 20 विश्व कप और 2022 एशिया कप में भी बड़ी टीमों के खिलाफ महत्वपूर्ण मैचों में, उन्होंने प्रशंसकों को साबित कर दिया है कि वह सिर्फ छोटी टीमों के खिलाफ बड़े रन बना सकते हैं।

- Advertisement -

1. इसका एक और प्रमाण यह है कि उन्होंने अपने करियर में अब तक खेले गए 2 टी20 विश्व कप 2021 में 3 (8), 18 (16), 69 (48), 50 (19), 54* (36), 4 (8),रन और और 2022 में 9 (12), 9 (14), 50 (32), 51 (35), 5 (5) के रूप में दोनों साल में कुल मिलकर मात्र 322 रन बनाए।

- Advertisement -

2. लेकिन यह चौंकाने वाला है कि उनके द्वारा 69, 50, 54, 50, 51 के रूप में बनाए गए बड़े रन छोटी टीमों क्रमशः अफगानिस्तान, स्कॉटलैंड, नामीबिया, बांग्लादेश और जिम्बाब्वे के खिलाफ आये हैं। उन्होंने पाकिस्तान, न्यूजीलैंड, पाकिस्तान, नीदरलैंड, दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड जैसी मजबूत टीमों के खिलाफ क्रमशः कम रन बनाए हैं।

केवल छोटी टीमों के खिलाफ रन बनाने वाले एक बल्लेबाज के रूप में नामित, आईपीएल 2022 श्रृंखला के बाद बिहार ख़राब फॉर्म में रहे हैं। उन्हें लगी चोट से उबरने के बाद, उन्होंने हाल ही में जिम्बाब्वे श्रृंखला, एशिया कप और इस विश्व कप में भी हांगकांग और नीदरलैंड जैसी टीमों के खिलाफ भी संघर्ष किया है।

इसलिए फैन्स का मानना है कि उनसे बुरा स्वार्थी खिलाड़ी कोई और नहीं हो सकता, सोशल मीडिया पर उनकी कड़ी आलोचना कर रहे हैं कि वह छोटी टीमों को हराकर और बड़ा नाम लेकर भारतीय टीम में अपना समय विलंबित कर रहे हैं। उसी के चलते फैंस ने उन्हें टीम से हटाने और किसी नए जेनरेशन के एक्शन ओपनर को लाने की मांग की है।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here